व्याकरण [ Grammar] in Hindi language-hindi vyakaran

बोलते , पढ़ते एवं लिखते समय हम जिस भाषा का प्रयोग कर रहे है ,वह सही है या नहीं इसकी जानकारी हमें व्याकरण से होती है !

भाषा के शुद्ध रूप का ज्ञान करने वाला शास्त्र व्याकरण कहलाता है !

उदाहरण :-

१.     मीरा गाना गा रहा है !

इस उदाहरण मै लिंग सम्बन्धी अशुद्धि है !

मीरा गाना गा रही है ! [शुद्ध रूप]

. कल जाना है वड़ोदरा मुझे !

इस उदाहरण मै शब्दों का सही क्रम मै प्रयोग नहीं किया गया है !

सही क्रम :- मुझे कल वड़ोदरा जाना है !

३. मैंने तेरे से  नाराज हूँ !

इस उदाहरण मै सर्वनाम का गलत प्रयोग किया गया है !

सही वाक्य :- मै तुमसे नाराज हूँ !

४. परिश्रम का फल मिठा होता है !

इस उदाहरण मै वर्तनी [spelling] सम्बन्धी गलतिया है !

सही वाक्य :- परिश्रम का फल मीठा होता है !

महत्वपूर्ण बिंदु

भावों एवं विचारो का आदान-प्रदान भाषा कहलाता है ! भाषा को शुद्ध रूप मै बोलना,लिखना और पढ़ना सीखने वाला शास्त्र व्याकरण कहलाता है !

Leave a Reply

%d bloggers like this: